‘रामायण’ ने T.R.P के सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए!

रामायण (Ramayan) ने टीआरपी के मामले में सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं. रामायण हिंदी सामान्य मनोरंजन क्षेत्र में सबसे ज्यादा देखा जाने वाला धारावाहिक बन गया.

कोरोनावायरस (CoronaVirus) के खतरे को  देखते हुए भारत को 21 दिन के लिए लॉकडाउन (Lockdown) किया गया है है. ऐसे में दूरदर्शन पर रामायण (Ramayan) का फिर प्रसारण किया जा रहा है. लोग रामायण को पंसद कर रहे हैं.

अब खबर आ रही है कि रामायण ने टीआरपी के मामले में सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं. रामानंद सागर के पौराणिक धारावाहिक ‘रामायण‘ तीन दशक से अधिक पुराना है और इसने 2015 के बाद से हिंदी जीईसी शो के लिए उच्चतम रेटिंग प्राप्त कर छोटे पर्दे पर ऐतिहासिक वापसी की.

ब्रॉडकास्ट ऑडियंस रिसर्च काउंसिल (BRC) की एक रिपोर्ट के अनुसार, ‘रामायण’ ने पिछले सप्ताहांत के चार शो में 170 मिलियन दर्शकों की भागीदारी की.

रामायण (Ramayan) हिंदी सामान्य मनोरंजन क्षेत्र में सबसे ज्यादा देखा जाने वाला धारावाहिक बन गया. इस शो को शहरी और मेगासिटीज में सबसे ज्यादा रेट किया गया. एक रिपोर्ट में कहा गया है: “रामायण’ के चार एपिसोड ने औसतन 28.7 मिलियन इंप्रेशन बटोरे. ‘रामायण‘ के सभी चार एपिसोडों में 6.9 बिलियन मिनट देखे गए, जिससे औसतन ‘रामायण‘ के प्रत्येक एपिसोड को 42.6 मिलियन ट्यून-इन्स मिले.”

ramaa

रामायण (Ramayan) को दोबारा शुरू करने की जानकारी सूचना और प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने ट्वीट कर दी थी. सूचना प्रसारण मंत्री के अनुसार ‘रामायण‘ सीरियल दिखाने का फैसला दर्शकों की भारी मांग के बाद लिया गया है. 

 यह धारावाहिक 90 की दशक में दूरदर्शन के राष्ट्रीय चैनल पर दिखाया जाता था. रामानंद सागर की ‘रामायण‘ ने ऐसा करिश्मा कायम किया था, जिसकी चर्चा आज भी होती है. इस सीरियल के आने के दौरान लोग टीवी के सामने बैठ जाते थे और सड़के एवं गलियां सुनसान हो जाती थी. कई लोग श्रद्धा के कारण हाथ जोड़कर शो को देखते थे. लोग सीरीयल में काम करने वाले कलाकार अरुण गोविल (राम), दीपिका(सीता) को भगवान की तरह पूजते थे. इस धारावाहिक में दारा सिंह हनुमान की भूमिका में थे.

मजेदार बात तो यह थी कि इस सीरियल में राम, सीता और लक्ष्मण की भूमिका निभा रहे कलाकारों को लोगों ने असली के भगवान का दर्जा दे दिया था. इस सीरियल में लक्ष्मण का किरदार सुनील लहरी ने निभाया था.

Like and Support us on Facebook