Corona Virus : क्या होता है जनता Curfew?

Pm Narendra Modi

दुनिया में तेजी से फैल रहे Corona Virus के खतरे को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को गुरुवार को संबोधित किया अपने संबोधन में पीएम मोदी ने इस रविवार 22 मार्च को सुबह 7 बजे से रात 9 बजे तक सभी देशवासियों को जनता Curfew का पालन करने का आग्रह किया. तो चलिए जानते हैं क्या है जनता कर्फ्यू जिसके बारे में पीएम मोदी ने अपने संबोधित के दौरान किया जिक्र.

Corona Virus Curfew

पीएम मोदी ने लोगों से अपील करते हुए कहा, “सेवा परमो धर्म के हमारे संस्कारों को मानने वाले ऐसे देशवासियों के लिए हमें पूरी श्रद्धा के साथ अपने भाव व्यक्त करने होंगे. मैं चाहता हूं कि 22 मार्च, रविवार के दिन हम ऐसे सभी लोगों को धन्यवाद अर्पित करें जो सेवा को परम धर्म मानते हैं.

Corona Virus Curfew

रविवार को ठीक 5 बजे, हम अपने घर के दरवाजे पर खड़े होकर, बाल्कनी में, खिड़कियों के सामने खड़े होकर 5 मिनट तक ऐसे लोगों का आभार व्यक्त करें. कोरोना जैसी वैश्विक महामारी के खिलाफ लड़ाई के लिए भारत कितना तैयार है, ये देखने और परखने का भी समय है.

Laboratry

आपके इन प्रयासों के बीच, जनता-कर्फ्यू के दिन, 22 मार्च को मैं आपसे एक और सहयोग चाहता हूं. पूरे देश के स्थानीय प्रशासन से भी मेरा आग्रह है कि22 मार्च को 5 बजे, सायरन की आवाज से इसकी सूचना लोगों तक पहुंचाएं.”

Laboratry

पीएम मोदी ने कहा

कि Corona Virus की वजह से इस रविवार यानी 22 मार्च को सुबह 7 बजे से रात 9 बजे तक सभी देशवासियों को जनता Curfew का पालन करना है. उन्होंने जनता कर्फ्यू के बारे में बात करते हुए कहा कि मैं आज प्रत्येक देशवासी से एक और समर्थन मांग रहा हूं. ये है जनता-कर्फ्यू यानी जनता के लिए जनता द्वारा खुद पर लगाया गया कर्फ्यू है.

Corona Virus Curfew

वहीं उन्होंने आगे कहा कि मेरा सभी देशवासियों से ये आग्रह है कि आने वाले कुछ सप्ताह तक जब बहुत जरूरी हो तभी अपने घर से बाहर निकलें. जितना संभव हो सके, आप अपना काम, चाहे बिजनेस से जुड़ा हो, ऑफिस से जुड़ा हो, अपने घर से ही करें.

Corona Virus Curfew

आज 130 करोड़ देशवासियों को अपना संकल्प और दृढ़ करना होगा कि हम इस वैश्विक महामारी को रोकने के लिए एक नागरिक के नाते, अपने कर्तव्य का पालन करेंगे. केंद्र सरकार, राज्य सरकारों के दिशा निर्देशों का पालन करेंगे.

Testing Lab

पीएम मोदी ने देश को

संबोधित करते हुए आगे कहा कि आज हमें ये संकल्प लेना होगा कि हम स्वयं संक्रमित होने से बचेंगे और दूसरों को भी संक्रमित होने से बचाएंगे. इस तरह की वैश्विक महामारी में एक ही मंत्र काम करता है-”हम स्वस्थ तो जग स्वस्थ.”

Testing Lab

पीएम मोदी ने कहा कि दुनिया के जिन देशों में कोरोना वायरस का प्रभाव ज्यादा देखा जा रहा है, वहां शुरुआती कुछ दिनों के बाद अचानक बीमारी का जैसे विस्फोट हुआ है. इन देशों में कोरोना से संक्रमित लोगों की संख्या बहुत तेजी से बढ़ी है.

Corona Virus Curfew

उन्होंने कहा कि आपसे मैंने जब भी, जो भी मांगा है. मुझे कभी देशवासियों ने निराश नहीं किया है. मैं 130 करोड़ देशवासियों से आपसे, कुछ मांगने आया हूं. मुझे आपके आने वाले कुछ सप्ताह चाहिए, आपका आने वाला कुछ समय चाहिए.पीएम मोदी ने कहा कि वैश्विक महामारी कोरोना से निश्चिंत हो जाने की ये सोच सही नहीं है. इसलिए, प्रत्येक भारतवासी का सजग रहना, सतर्क रहना बहुत आवश्यक है.

Corona Virus Curfew
Image src

अपने संबोधन के दौरान उन्होंने आगे कहा कि इन दो महीनों में भारत के 130 करोड़ नागरिकों ने कोरोना वैश्विक महामारी का डटकर मुकाबला किया है, आवश्यक सावधानियां बरती हैं. लेकिन, बीते कुछ दिनों से ऐसा भी लग रहा है जैसे हम संकट से बचे हुए हैं, सब कुछ ठीक है.

पीएम मोदी ने कहा कि पूरा विश्व इस समय संकट के गंभीर दौर से गुजर रहा है. आम तौर पर जब कोई प्राकृतिक संकट आता है तो वो कुछ देश या राज्यों तक सीमित रहता है. लेकिन इस संकट ने पूरी मानव जाति को संकट में डाल दिया है.

Like and Support us on Facebook