कोरोना: सुपर स्प्रेडर क्या होते हैं और ये इतने खतरनाक क्यों हैं कि अहमदाबाद में सब कुछ बंद करना पड़ा!

कोरोना वायरस के मामले में गुजरात देश में दूसरे नंबर पर हैं. यहां अब तक कोरोना के 8,195 मामले सामने आ चुके हैं. 492 लोगों की जान गई है. राज्य में अहमदाबाद सबसे ज्यादा प्रभावित है. इस शहर में अभी तक 5,818 कोरोना के मामले आ चुके हैं. साथ ही 363 लोगों की मौत हो चुकी है. ऐसे में सरकार ने लॉकडाउन में सख्ती की है. अहमदाबाद में 15 मई तक सब्जी और किराने की दुकानों को भी बंद कर दिया गया है. अधिकारियों ने बताया कि शहर में 334 कोरोना के सुपर स्प्रेडर मिले हैं.

क्या हैं सुपर स्प्रेडर!

सुपर स्प्रेडर ऐसे संक्रमित लोग होते हैं जिनसे बीमारी फैलने की आशंका सबसे ज्यादा होती है. ऐसे लोग बहुत सारे लोगों को संक्रमित कर सकते हैं. सुपर स्प्रेडर ज्यादातर ऐसे व्यक्ति होते हैं जो रोजाना बहुत से लोगों के संपर्क में आते हैं. जैसे सब्जी बेचने वाले, किराने या दूध वाले, पेट्रोल पंप अटेंडेट और सफाई कर्मचारी. कई बार ऐसे लोगों को खुद भी नहीं पता होता है कि वे संक्रमित हैं.

सुपर स्प्रेडर को कोरोना वायरस कैसे हुआ, यह पता लगाना भी टेढी खीर होती है. देश के कई राज्यों से इस तरह के मामले सामने आ चुके हैं. ज्यादातर सुपर स्प्रेडर में बीमारी के लक्षण भी नहीं दिखते.

अहमदाबाद में हो सकते हैं 14 हजार सुपर स्प्रेडर!

समाचार एजेंसी पीटीआई को एक अधिकारी ने बताया कि अहमदाबाद में करीब 14 हजार सुपर स्प्रेडर हो सकते हैं. इस वजह से काफी खतरा है. इसलिए अगले तीन दिनों में सभी की स्क्रीनिंग की जाएगी. अहमदाबाद के ग्रामीण इलाकों और झुग्गियों में भी स्क्रीनिंग की जाएगी. अहमदाबाद नगर निगम ने 20 अप्रैल से संभावित सुपर स्प्रेडर्स के खिलाफ काम शुरू किया था. इसके तहत अभी तक 3817 सैंपल लिए गए हैं. इनमें से 334 लोग पॉजीटिव पाए गए हैं.

शहर के वीजलपुर इलाके में एक दुकानदार कोरोना पॉजिटिव मिला था. इसके बाद पिछले 15 दिन में दुकान पर आए सभी लोगों को घर पर क्वारंटीन में ही रहने को कहा गया है. इसी तरह शहर के बाहरी इलाके में धोलका नाम से एक कस्बा है. यहां पर एक तरबूज बेचने वाला व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव निकला था. उसकी पहचान भी सुपर स्प्रेडर के रूप में की गई है.

जिला विकास अधिकारी अरुण महेश बाबू ने बताया कि इसके संपर्क में करीब 96 लोग आए थे. इनमें से ज्यादातर परिवार के लोग, साथी दुकानदार और नियमित ग्राहक हैं. इन सबको क्वारंटीन किया गया है. इनमें से 12 लोग कोरोना पॉजिटिव मिले हैं

13 मई तक 2000 संदिग्ध सुपर स्प्रेडर्स की जांच!

अतिरिक्त मुख्य सचिव राजीव को अहमदाबाद में कोरोना से संबंधित सुपरविजन, मॉनिटरिंग और कॉर्डिनेशन का जिम्मा दिया गया है. उन्होंने बताया कि पिछले दो दिन में करीब 2000 संदिग्ध सुपर स्प्रेडर्स की स्क्रीनिंग की गई है. इन सबकी 13 मई तक जांच कर ली जाएगी.

कोरोना के लगातार बढ़ते मामलों के चलते अहमदाबाद नगर निगम ने कई कदम उठाए हैं. इनमें दुकान मालिकों और स्टाफ की मेडिकल स्क्रीनिंग शामिल है. वे अपने वार्ड के स्क्रीनिंग केंद्र में जा सकते हैं. यहां से उनके रिजल्ट के हिसाब से हेल्थ स्क्रीनिंग कार्ड मिलेंगे.

Like and Support us on Facebook